February 24, 2021

Tej Times News

Satyam Sarvada

किसान प्रतिनिधि विज्ञान भवन में सरकार के साथ बातचीत जारी

किसान प्रतिनिधियों ने विज्ञान भवन में भोजन ग्रहण किरने के बाद वार्ता शुरू की

नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 40 दिनों से भी अधिक समय से प्रदर्शन कर रहे किसान अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं। सरकार और किसान संगठनों के बीच सातवें दौर की बातचीत जारी है। कहा जा रहा है कि दोनों पक्षों के बीच चार अहम मुद्दों में से दो मुद्दों पर सहमति बन गई है।

नई दिल्ली, एएनआइ। मोदी सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ एक महीने से अधिक समय से दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर जबरदस्त विरोध प्रदर्शन (Farmer’s Protest) कर रहे किसानों नेताओं ए ार्यान्वयन आ गए)और सरकार के बीच सातवें दौर की वार्ता जारी है।

इसी बीच किसानों ने भोजन किया है। सरकार की ओर से केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और रेल मंत्री पीयूष गोयल विज्ञान भवन में किसान संगठनों के साथ बातचीत कर रहे हैं। बैठक से पहले कृषि मंत्री ने कहा है कि आज की बैठक में जो मुद्दे बचे हुए हैं उन पर चर्चा होगी। मुझे आशा है कि सभी मिलकर सकारात्मक हल निकालने में मदद करेंगे और सफल भी होंगे। ज्ञातव्य है कि मोदी सरकार लगातार इस बात को कह रही है कि एमएसपी और मंडी प्रणाली बनी रहेगी।

अब तक केंद्र सरकार और किसान यूनियनों के बीच छह दौर की वार्ता हो चुकी है। किसान संगठन सितंबर में संसद द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों को लगातार निरस्त करने की अपनी मांग पर अड़े हुए हैं। 

सरकार का कहना है कि इन कानूनों के आने से बिचौलिए की भूमिका खत्म हो जाएगी और किसान अपनी उपज देश में कहीं भी बेच सकेंगे।

जबकि प्रदर्शनकारी किसान संगठनों का कहना है कि इन नए कृषि कानूनों से एमएसपी का सुरक्षा कवच खत्म हो जाएगा और मंडियां भी खत्म हो जाएंगी तथा कृषि, बड़े कारपोरेट समूहों के हाथ में चली जाएगी।

किसान प्रतिनिधियों ने विज्ञान भवन में भोजनावकाश के दौरान भोजन किया। इसके बाद ये सभी एक बार फिर सरकार के साथ तीनों कृषि कानूनों पर बातचीत करेंगे।